नॉएडा के इन दोनों छात्रों ने बना डाला ये अनोखा हीट सेंसर, अब नहीं लगेगी इलेक्ट्रिक वाहनों में आग, इनका ये प्रोजेक्ट हो चूका है स्वीकार

नॉएडा की शारदा यूनिवर्सिटी के दो छात्रो सुधांशु और प्रांजल ने एक हीट अलर्ट डिवाइस बनाया है।

इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रयोग आजकल बहुत बढ़ रहा है। क्योकि ये वाहन न सिर्फ सस्ते मिल रहे है। बल्कि इनका प्रयोग करने से पर्यावरण को भी नुकसान नहीं हो रहा है। जिसके कारण इन्हे अपनाना आजकल पहला विकल्प माना जा रहा है , सही भी है। क्योकि वैज्ञानिक भी इनका प्रयोग करना अच्छा विकल्प मान रहे है। और इन्हे स्वीकार कर चुके है। लेकिन अब अगर किसी चीज़ के फायदे है, नुकसान भी है। दरअसल पिछले कुछ समय से इन्ही इलेक्ट्रिक वाहनों में आग लगने की शिकायत भी सामने आ रही है , जिसके कारण जान जाने का भी भी खतरा बना हुआ है। आज के इस लेख में हम इसी समस्या का समाधान लेकर आये हुए है। क्योकि हम आज एक ऐसी खबर के बारे में ज चर्चा करेंगे जो कि, आप भी हैरानी में पड़ जायेंगे। आज के इस लेख में हम नॉएडा के उन दो होनहार छात्रों के बारे में जानेंगे। जिन्होंने अपनी मेहनत से एक हीट अलर्ट डिवाइस तैयार किया है। हीट अलर्ट डिवाइस जो कि विशेष रूप से उन्होंने इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए ही डिज़ाइन किया गया है। आईये जानते है इन छात्रों के इस अनोखे आविष्कार के बारे में।

नॉएडा के दो छात्रों सुधांशु और प्रांजल ने बनाया हीट डिवाइस
नॉएडा के दो छात्रों सुधांशु और प्रांजल ने बनाया हीट डिवाइस

नॉएडा के दो छात्रों ने बनाया हीट डिवाइस

बता दे कि, नॉएडा की शारदा यूनिवर्सिटी के दो छात्रो सुधांशु और प्रांजल ने एक हीट अलर्ट डिवाइस बनाया है। और इस डिवाइस को उन्होंने विशेष रूप से इलेक्ट्रिक वाहनों में आग की समस्या को खत्म करने के लिए बनाया है। और अक्सर देखा गया कि, गर्मी के समय बेटरी में नमी आने से इन वाहनों में आग लगने का खतरा बढ़ जाता है। जिसके कारण कई लोग इन वाहनों को खरीदते हुए डरते है। और इन छात्रों के बनाए हुए इस डिवाइस से आग लगने से पहले ही अलार्म बज जायेगा। जिसे एक्सीडेंट की सम्भावना भी कम हो जाएगी।

 जिन वाहनों में आग लगी थी उनमें बैटरी पैनल का तापमान बढ़ गया था।
जिन वाहनों में आग लगी थी उनमें बैटरी पैनल का तापमान बढ़ गया था।

इसे भी अवश्य पढ़े:-सालो से बंद पड़ी थी ये पेपर मिल, अब चल पड़ी है फिर से, हो गया है लोकार्पण, मिलेगी नयी नौकरियां

इस कारण से लगती है वाहनों में आग

पाया गया कि, जिन electricवाहनों में आग लगी थी उनमें बैटरी पैनल का तापमान बढ़ गया था। तापमान बढ़ने सेल फटने और तार में शॉर्ट सर्किट होने की आशंका बढ़ जाती है। और battery भी लिथियम की बनी होती है, तो आग गाडी चलने के बाद वह गर्म हो हो जाती है, और जिससे आग लग जाती है।

इस डिवाइस को उन्होंने विशेष रूप से इलेक्ट्रिक वाहनों में आग की समस्या को खत्म करने के लिए बनाया है।
इस डिवाइस को उन्होंने विशेष रूप से इलेक्ट्रिक वाहनों में आग की समस्या को खत्म करने के लिए बनाया है।

इसे भी अवश्य पढ़े:-डिमांड में है ये अनोखा भैंसा, लग चुकी है 90 करोड़ की बोली भी, आखिर क्या है इसकी ये काया का राज़, और क्या है खास

ये लेख पढ़ने के लिए आपका आभार, ऐसे ही दिलचस्प खबरों के लिए जुड़े रहिये समाचार बडी से, धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *