जस्बा क्या होता है, इस बिटिया से सीखिए, 5 बार भी यूपीएसी में फैल होने के बावजूद भी नहीं मानी हार, और 6ठे प्रयास में बन गयी आईएएस अफसर

नमिता शर्मा नेअपने छठे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की थी और 145 रैंक प्राप्त की थी।

कहते है कि असफलताएं सबसे बड़ा गुरु होती है। और जीवन के ऐसी शिक्षाये देती है। और यदि उनसे सही देश में सीख ली जाए, तो फिर क्या ही कहने। वाकई में ही हर व्यक्ति यदि सही तरह से अपनी कमियों और असफलताओं से अपनी कमियों के कारण को समझते तो , फिर सफलता मिलना ओर भी आसान हो जाता है। और कहते है, कि जो इंसान बार बार भी असफल होने पर भी हार नहीं मानता है, तो फिर उसके लिए सफलता के मायने बढ़ जाए है। और वह उसे दुगने आनंद के साथ उसे जीता है। और कई लोग इस दुनिया में ऐसे होते है, जो उन मिली असफलताओ से न तो कुछ सीख पाते है। बल्कि हार मानकर बैठ जाते है। और इसी कारण से वे असफल रह जाते है। और कुछ भी हासिल नहीं कर पाते है। लेकिन आज की कहानी पढ़कर और समझकर आप ये ज़रुर जान जाएंगे कि, असफलता भी सफलता की ओर ले जा सकती है। आज की हमारी कहानी है, आईएएस बन चुकी नमिता शर्मा जी। जिन्होंने ये आईएएस अफसर बनने का पद एक बार नहीं बल्कि पांच बार मिल चुकी असफलता के बाद पायी है।

6ठे प्रयास में हासिल की असफलता
6ठे प्रयास में हासिल की असफलता

6ठे प्रयास में हासिल की असफलता

नमिता शर्मा उन सभी युवाओ के लिए एक प्रेरणा श्रोत है। जो कि हालात के हाथो खुद को छोड़कर बैठ जाते है। और खुद की सफलता को किस्मत के हाथो छोड़ देते है। आज हम बात करेंगे नमिता शर्मा जी की। जिन्होंने एक बार नहीं दो बार नहीं, बल्कि उन्होंने 5 बार असफलता हासिल की है। और सामना भी बखूबी किया है। और इसी का परिणाम आपके सामने है। उन्होने न सिर्फ अपने पांचवे प्रयास में यूपीएसी की परीक्षा को पास किया, बल्कि उसमे 145 रैंक भी हासिल की है।

दिल्ली की रहने वाली है नमिता शर्मा
दिल्ली की रहने वाली है नमिता शर्मा

इसे भी अवश्य पढ़े:-कभी काम शुरू करने के लिए हाथ में एक आना नहीं था, लेकिन इस महिला ने हिम्मत नहीं हारी, और बन गयी लाखो महिलाओ की प्रेरणा

दिल्ली की रहने वाली है नमिता शर्मा

बता दे कि नमिता शर्मा जी दिल्ली की रहने वाली है। और उन्होंने वहीँ के लेडी इरविन कॉलेज से अपनी पढाई पूरी की है। उन्होंने बाद में इंजीनियरिंग का पद प्राप्त करने के बाद नौकरी भी की। लेकिन वो जीवन में कुछ ओर करना चाहती थी। इसलिए उन्होने नौकरी छोड़कर यूपीएसी की तैयारी शुरू की थी। उसके बाद उन्होंने लगातार उन्होंने यूपीएसी की परीक्षा में असफलता का सामना किया , लेकिन आखिर में ही उन्होने 6ठे प्रयास में सफलता हासिल की और आज वे आईएएस बन गयी है।

 नमिता शर्मा ने पांचवे प्रयास में यूपीएसी की परीक्षा को पास किया, बल्कि उसमे 145 रैंक भी हासिल की है।
नमिता शर्मा ने पांचवे प्रयास में यूपीएसी की परीक्षा को पास किया, बल्कि उसमे 145 रैंक भी हासिल की है।

इसे भी अवश्य पढ़े:-“ये बेज़ुबान भी प्यार कर सकते है”, ये बात खुद साबित कर चुकी है ये वायरल वीडियो, देखिये कैसे ये बंदर इस बच्चे पुचका…

ऐसे ही दिलचस्प किस्से जानने के लिए जुड़े रहिये  samacharbuddy के साथ, और हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करना न भुले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *