समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने आज दुनिया को कहा अलविदा

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने आज दुनिया को कहा अलविदा।

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव का सोमवार को निधन हो गया। उन्होंने आज सुबह 8:15 बजे अंतिम सांस ली। वह 22 अगस्त से मेदांता में भर्ती थे। इससे पहले 1 जुलाई, 2022 को भी मुलायम को मेदांता में भर्ती कराया गया था। 2 अक्टूबर से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। बता दें कि सपा संरक्षक के पार्थिव शरीर को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई ले जाया जाएगा। समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का आज उपचार के दौरान निधन हो गया। बीते कई दिनों से उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई थी, उनकी तबीयत में कोई खास सुधार नहीं हो रहा था, बल्कि हालत लगातार नाजुक होती जा रही थी। इस बीच ‘धरतीपुत्र’ ने आज उपचार के दौरान अंतिम सांंल ली। यूपी में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित पीएम मोदी ने बोले की मुलायम सिंह यादव जमीन नेता थे ।

'धरतीपुत्र' मुलायम सिंह यादव का आज हुआ निधन
‘धरतीपुत्र’ मुलायम सिंह यादव का आज हुआ निधन

संघर्षों से भरा रहा है’धरतीपुत्र’ मुलायम सिंह यादव का

‘ धरतीपुत्र’ मुलायम सिंह यादव कुशल, प्रख्यात , प्रशासक नेता थे समाजवादी पार्टी बनाई। 8 बार MLA बने ,3 बार मुख्यमंत्री ,7 बार MP रहे मैनपुरी से आखरी बार 8 बार विधायक ,१ बार केंद्रीय मंत्री 1 बार MLC’  सियासत के अखाड़े वो पहलवान जो कभी नहीं हारा । समाजवादी पार्टी मुलायम के युग का अंत देश की आँखो में नम हुई । समाजवादी पार्टी बनाई 8 बार MLA बने ,3 बार मुख्यमंत्री ,7 बार MP रहे मैनपुरी से आखरी बार 8 बार विधायक ,1 बार केंद्रीय मंत्री 1 बार MLC बने।

मुलायम सिंह यादव ने आज दुनिया को कहा अलविदा।
मुलायम सिंह यादव ने आज दुनिया को कहा अलविदा।

किसान नेता के नाम से भी जाने जाते थे मुलायम सिंह यादव

आम लोगों के बीच मुलायम सिंह किसान नेता, नेताजी और धरती पुत्र जैसे नामों से जाने जाते है। मुलायम सिंह तीन बार यूपी के मुख्यमंत्री रहे है और एक बार देश के रक्षामंत्री का जिम्मा संभाला है. वर्ष 1996 में मुलायम सिंह यादव इटावा के मैनपुरी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा सदस्य बने और उन्हें केंद्रीय रक्षामंत्री निर्वाचित किया था।

समाजवादी पार्टी मुलायम के युग का अंत देश की आँखो में नम हुई
समाजवादी पार्टी मुलायम के युग का अंत देश की आँखो में नम हुई

1998 में मुलायम की सरकार गिर गई। हालांकि, 1999 में उन्होंने संभल निर्वाचन क्षेत्र से जीत दर्ज की और वे फिर से लोकसभा पहुंचे।

82 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

जुलाई, 2021 में मुलायम को बेचैनी और घबराहट महसूस होने के चलते मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इससे पहले 1 जुलाई, 2022 को भी मुलायम को मेदांता में भर्ती कराया गया था। 2 अक्टूबर से उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। बता दें कि सपा संरक्षक के पार्थिव शरीर को उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई ले जाया जाएगा। समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का आज उपचार के दौरान निधन हो गया।

पिछले कुछ सालों से जब भी मुलायम की तबीयत गंभीर
पिछले कुछ सालों से जब भी मुलायम की तबीयत गंभीर

बीते कई दिनों से उनकी हालत चिंताजनक बनी हुई थी, उनकी तबीयत में कोई खास सुधार नहीं हो रहा था, बल्कि हालत लगातार नाजुक होती जा रही थी। इस बीच ‘धरतीपुत्र’ ने आज उपचार के दौरान अंतिम सांंल ली। मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना गुप्ता  का 9 जुलाई, 2022 को निधन हो गया था। उन्होंने गुड़गांव स्थित मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली थी। फेफड़ों में संक्रमण के चलते साधना गुप्ता की तबीयत बहुत खराब थी।हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप सबका धन्यवाद और इस प्रकार की ओर भी रोचक खबरे जानने के लिए हमारी वेबसाइड Samchar buddy.comजुड़े रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *