बचपन से ही हो गया था पोलियो, लेकिन इस शख्स ने हिम्मत नहीं हारी, व्हीलचेयर से उतरकर खुद ही ठीक करने लगे सड़क, खोली प्रशासन की आँखे

गणेश नाईक नाम के इस व्यक्ति का जीवन वाकई में ही सराहनीय है,

अक्सर हम कई बार ऐसी कहानियो के बारे में सुनते है या पढ़ते है, जिन्हे सुनकर हम बहुत हैरानी से भर जाते है। क्योकि वो कारनामे बहुत अलग हो जाते है। और समाज की सोच से भी परे हो जाते है। और यही वो बाते है, जो उन्हें दुनिया से खास और अलग अलग भी बना देती है। सामान्य तौर पर हम क्या सोचते है, कि जो लोग शारीरिक तौर पर ठीक होने पर काम कर सकते है। लेकिन ऐसा कुछ नहीं है, अगर इंसान में एक मजबूत होंसला कर ले तो, वो हर मुश्किल को पार कर सकता है। चाहे फिर कुछ भी क्यों न हो जाए। बहुत हिम्मत और होंसला मजबूत होना चाहिए। बस शर्त है, कुछ कर गुज़रने की ख्वाहिश मजबूत हो। तो फिर तो कुछ भी मुश्किल नहीं है। और वाकई में ही ये बहुत बड़ी बात होती है। क्योकि इस दुनिया में ऐसे बहुत कम लोग होते है। और कमाल कर देते है।और इतिहास ही रच देते है। और आज हम जिस व्यक्ति के बारे में बात करने वाले है, जिनके एक पाँव में दिक्कत होने की वजह से भी उन्होंने हार नहीं मानी है , और कुछ ऐसा कर दिखाया है , कि आप भी हैरान हो जाएंगे, कि क्या ये सच में संभव है, जी हाँ, आज हम एक ऐसे ही व्यक्ति गणेश नाईक के बारे में बात करने वाले है। जिन्हे पोलियो है, और उन्होंने इतनी दिक्कत होने के बावजूद भी उन्होंने अपने क्षेत्र के एक दुर्भर रास्ते को सही कर दिखाया है।

कमज़ोरी को कभी भी कमज़ोरी नहीं माना। ये सब्जी बेचकर ही अपना गुज़ारा कर लेते है
कमज़ोरी को कभी भी कमज़ोरी नहीं माना। ये सब्जी बेचकर ही अपना गुज़ारा कर लेते है

गणेश नाईक सब्जी बेचकर करते है जीवन यापन

गणेश नाईक नाम के इस व्यक्ति का जीवन वाकई में ही सराहनीय है, क्योकि इन्होने अपनी कमज़ोरी को कभी भी कमज़ोरी नहीं माना। ये सब्जी बेचकर ही अपना गुज़ारा कर लेते है। और बल्कि, यही नहीं ये पोलियो से ग्रसित भले ही है, लेकिन स्वयं को खुश रखते है।

जर्जर पड़ी सड़क को किया ठीक
जर्जर पड़ी सड़क को किया ठीक

इसे भी अवश्य पढ़े:-इश्क़ में गिरफ्तार इस मुस्लिम युवती ने लिए हिन्दू युवक के साथ सात फेरे, बन गयी हिन्दू बहु

जर्जर पड़ी सड़क को किया ठीक

गणेश नाईक जी धर्मगढ़ प्रखंड के केरमुंडा गांव के रहने वाले हैं। और उनके इस गाँव में एक सड़क काफी खराब हालत में थी। जिसके कारण उन्होंने अपनी हालत की चिंता न करते हुए खुद ही व्हीलचेयर से उतरकर उसे ठीक किया। और उनकी ये वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हो रही है।

गणेश नाईक जी धर्मगढ़ प्रखंड के केरमुंडा गांव के रहने वाले हैं।
गणेश नाईक जी धर्मगढ़ प्रखंड के केरमुंडा गांव के रहने वाले हैं।

इसे भी अवश्य पढ़े:-लगातार बढ़ रहे थे इलेक्ट्रॉनिक्स स्कूटर्स में आग लगने के मामले, सरकार ने भी कर ली है पूरी तैयारी, लागू कर दिया बेटरी…

ऐसे ही दिलचस्प खबरों के लिए जुड़े रहिये समाचार बडी से, धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *