राजेश खन्ना ने खुद कबूल किया था एक इंटरव्यू में कि ”‘मैं खुद को भगवान के बराबर समझने लगा था’, बताया अपना कड़वा सच?

राजेश खन्ना ने खुद एक कबूल किया था एक इंटरव्यू में कि ”‘मैं खुद को भगवान के बराबर समझने लगा था’, बताया अपना कड़वा सच?

राजेश खन्ना  ने काफी मेहनत से फिल्म इंडस्ट्री में सफलता पाई थी। उनकी मेहनत और शख्सियत का जादू दर्शकों के सिर चढ़ कर ऐसा बोला कि राजेश हिंदी सिनेमा के पहले सुपर स्टार  बन गए। राजेश खन्ना का रुतबा ऐसा था कि लोग कहते थे कि ‘ऊपर आका, नीचे काका’। जिस एक्टर के इस कदर चाहने वाले हो, जिसके घर के बाहर निर्माता-निर्देशक लाइन लगाकर खड़े रहते हो उसका दिमाग थोड़ा बहुत खराब हो जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।आलम ये था कि मुहमांगी रकम देने के लिए फिल्ममेकर तैयार रहते थे, क्योंकि सबको पता था कि राजेश पर पैसा लगाने का मतलब मालामाल हो जाना है।कहते हैं कि जब इंसान बहुत नाम-दाम कमा लेता है तो उसका अहंकार भी बढ़ जाता है।राजेश की सफलता चरम पर थी तो धीरे-धीरे उनकी मनमानी करने लगे।एक्टर ने उस समय की कई फिल्मों को ठुकरा दिया था। जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा. राजेश खन्ना की आदतों की वजह से मनमोहन देसाई, ऋषिकेश मुखर्जी और शक्ति सामंत जैसे कई बड़े फिल्म डायरेक्टर उन्हें अपनी फिल्मों में लेना छोड़ने लगे थे।इस तरह एक दिन ऐसा आया कि उनका स्टारडम छिन गया।कई युवा उनसे इतने प्रेरित हुए कि उन्हीं की तरह फिल्म इंडस्ट्री में हाथ आजमाने मुंबई पहुंचें।कई सफल भी हुए कई असफल भी। एक इंटरव्यू में अमिताभ बच्चन  ने भी माना था कि वह राजेश खन्ना से बेहद प्रभावित थे और फिल्मों में आने की प्रेरणा उनसे ही मिली थी।

राजेश खन्ना ने एक इंटरव्यू में कबूल किया था कि
राजेश खन्ना ने एक इंटरव्यू में कबूल किया था कि

इसे भी पढ़े:- सलमान खान और भाग्यश्री की जोड़ी इस फिल्म में बड़ी हिट हुई इनकी जोड़ी ,लेकिन अब 30 साल बाद कहां हैं ‘मैंने प्यार किया’ की स्टारकास्ट

राजेश खन्ना ने एक इंटरव्यू में कबूल किया था कि

कई युवा उनसे इतने प्रेरित हुए कि उन्हीं की तरह फिल्म इंडस्ट्री में हाथ आजमाने मुंबई पहुंचें।कई सफल भी हुए कई असफल भी, एक इंटरव्यू में अमिताभ बच्चन  ने भी माना था कि वह राजेश खन्ना से बेहद प्रभावित थे और फिल्मों में आने की प्रेरणा उनसे ही मिली थी।

राजेश खन्ना से बेहद प्रभावित थे और फिल्मों में आने की प्रेरणा उनसे ही मिली
राजेश खन्ना से बेहद प्रभावित थे और फिल्मों में आने की प्रेरणा उनसे ही मिली

राजेश खन्ना को भले ही अहंकारी और समय का ख्याल नहीं रखने वाला माना जाता है लेकिन वह दिल के बहुत साफ भी थे। मूवी मैग्जीन को दिए एक इंटरव्यू में राजेश खन्ना ने अपना दिल खोलकर रख दिया था। अपने तूफानी स्टारडम से नाकामी के अंधेरों तक को याद करते हुए कबूल किया था कि ‘मैं अपने आप को भगवान के बराबर समझने लगा था।मुझे अब भी वो पल याद है जब मुझे अंदाजा हुआ कि जबरदस्त सफलता आपको किस तरह हिला कर रख देती है।अगर आप पर इसका असर नहीं होता तो आप इंसान नहीं हैं’।

अपने तूफानी स्टारडम से नाकामी के अंधेरों तक को याद करते हुए कबूल किया
अपने तूफानी स्टारडम से नाकामी के अंधेरों तक को याद करते हुए कबूल किया

इसे भी पढ़े:-बिग बिग को लेकर रेखा की ऐसी दीवानगी को देख एक्टर से मिलने की वजह से साइन की फिल्म को भी ठुकरा दिया

राजेश खन्ना  ने बताया अपना कड़वा सच

एक इंटरव्यू में राजेश खन्ना  ने कबूल किया था कि ‘मैं अपने आप को भगवान के बराबर समझने लगा था। मुझे अब भी वो पल याद है जब मुझे अंदाजा हुआ कि जबरदस्त सफलता आपको किस तरह हिला कर रख देती है।अगर आप पर इसका असर नहीं होता तो आप इंसान नहीं हैं’।

राजेश खन्ना  ने बताया अपना कड़वा सच
राजेश खन्ना  ने बताया अपना कड़वा सच

राजेश खन्ना ने मूवी मैग्जीन को दिए एक इंटरव्यू में अपना दिल खोलकर रख दिया था।अपने तूफानी स्टारडम से नाकामी के अंधेरों तक को याद करते हुए कबूल किया था कि मैं अपने आप को भगवान के बराबर समझने लगा था। मुझे अब भी वो पल याद है जब मुझे अंदाजा हुआ कि जबरदस्त सफलता आपको किस तरह हिला कर रख देती है।हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप सबका धन्यवाद और इस प्रकार की ओर भी रोचक खबरे जानने के लिए हमारी वेबसाइड Samchar buddy जुड़े रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *