मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर, इस लव स्‍टोरी में गुस्‍सा और नफरत दोनों देखने को मिली ‘दूसरी औरत’ का बदनुमा दाग

मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर, इस लव स्‍टोरी में गुस्‍सा और नफरत दोनों देखने को मिली 'दूसरी औरत' का बदनुमा दाग

दशक में फिल्‍म इंडस्‍ट्री में नाना पाटेकर और मनीषा कोइराला के इश्‍क के खूब चर्चे थे। शादीशुदा नाना पाटेकर और मनीषा की उम्र में 20 साल का अंतर था। दोनों ने खुल्‍लमखुल्‍ला प्‍यार किया। लेकिन फिर इसमें नफरत और गुस्‍से की ऐसी जहर घुली कि इसका अंत आंसुओं के सैलाब से कहीं आगे निकल गया। आज बात दोनों की ऐसी ही लव स्‍टोरी की।लेकिन ये प्रेम कहानी ऐसी बिल्‍कुल नहीं है। सिनेमा की दुनिया में पर्दे के पीछे भी कई लव स्‍टोरीज चलती हैं। अक्‍सर हम उन प्रेम कहानियों का जिक्र करते हैं, जहां सब रूमानी होता है। लेकिन मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर  की लव स्‍टोरी ऐसी है, जहां प्‍यार हुआ, इकरार हुआ, दुनिया के सामने इस प्रेम कहानी को स्‍वीकारा भी गया। लेकिन इसका अंत खुशनुमा नहीं रहा। मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर की उम्र में 20 साल का फासला है।मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर की लव स्‍टोरी में अड़चनें तो कई थीं। लेकिन पहली बड़ी अड़चन थी उम्र में 20 साल का फासला और दूसरी उससे भी बड़ी कि नाना पाटेकर शादीशुदा थे। हालांकि, तब उनकी पत्‍नी नीलकांति उनके साथ नहीं रहती थीं। साल 1951 में पैदा हुए विश्‍वनाथ पाटेकर उर्फ नाना पाटेकर की शादी 27 साल की उम्र में नीलकांति पाटेकर से हो गई थी। कपल का एक बेटा भी था। दूसरी ओर, नेपाल राजघराने से ताल्‍लुक रखने वाली मनीषा कोइराला जब इंडस्‍ट्री में आईं तो उनकी तुलना माधुरी दीक्ष‍ित से होने लगी थी। मनीषा तब 26 साल की थीं और नाना पाटेकर 45 की उम्र पार कर चुके थे।

मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर इस लव स्‍टोरी में गुस्‍सा
मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर इस लव स्‍टोरी में गुस्‍सा

इसे भी पढ़े:- वरुण धवन और नताशा दलाल के घर आया नन्हा मेहमान ,और दादा बन गए डेविड धवन

 

मनीषा कोइराला और नाना पाटेकर इस लव स्‍टोरी में गुस्‍सा

मनीषा कोइराला की जिंदगी में नाना पाटेकर की एंट्री तब हुई थी, जब उनका दिल चकनाचूर था। यह वह दौर था, जब नाना पाटेकर पर्दे पर सबसे दिलचस्‍प सुपरस्‍टार थे। फिल्‍म में उनका होना दो बातों की तस्‍दीक करता था। एक तो फिर सुपरहिट होगी और दूसरी यह कि कहानी और ऐक्‍ट‍िंग दोनों के मामलों में यह फिल्‍म अव्‍वल दर्जे की होगी।  आज बात ऐसी प्रेम कहानी की, जिसमें गुस्‍सा है, नफरत है और है ‘दूसरी औरत’ का बदनुमा दाग।नाना पाटेकर से पहले मनीषा कोइराला फिल्‍म ‘सौदागर’ में अपने को-स्‍टर विवेक मुशरान  को डेट कर रही थीं। दोनों का ब्रेकअप हो गया। मनीषा इस ब्रेकअप से बिखर गई थीं।

मनीषा इस ब्रेकअप से बिखर गई थीं।
मनीषा इस ब्रेकअप से बिखर गई थीं।

इसी बीच उनकी मुलाकात नाना पाटेकर से हुई। दोनों फिल्‍म ‘अग्‍न‍िसाक्षी’ में को-स्‍टार थे। उम्र में 20 साल बड़े नाना पाटेकर में मनीषा को मैच्‍योर लव नजर आया। फिल्‍म के सेट पर ही दोनों के बीच दोस्‍ती बढ़ी। ब्रेकअप से उबरने की कोश‍िश कर रही मनीषा को अपने सामने एक ऐसा शख्‍स दिखा जो क्रिएटिव है, मैच्‍योर है, अपने आर्ट में माहिर है, सुलझा हुआ इंसान है। कुल मिलाकर प्‍यार में जिस ठहराव की हर किसी को चाहत होती है, वही ठहराव मनीषा को नाना पाटेकर में दिखा। दोनों की दोस्‍ती को प्‍यार में बदलते हुए वक्‍त नहीं लगा। शुरुआत में दोनों ने दुनिया से छुप छुपाकर डेटिंग शुरू कर दी।

इसे भी पढ़े:- खूबसूरत दिखने के चक्कर में इस फेमस एक्टर्स ने कम उम्र में गंवाई थी अपनी जान राखी सावंत का छलका दर्द और बताई पूरी घटना

नफरत है और है ‘दूसरी औरत’ का बदनुमा दाग

मनीषा और नाना अपने रिश्‍ते को लेकर शुरुआत में मुखर नहीं थे। वो नहीं चाहते थे कि इस बारे में किसी को इतनी जल्‍दी खबर हो। प्‍यार तब नया-नया था। लेकिन ऐसा हो न सका। फिल्‍म के सेट पर दोनों की मिलती नजरें, ब्रेक में एक-दूसरे के साथ वक्‍त बिताना।यह सब क्रू मेंबर्स की आंखों के सामने हो रहा था। लाख छुपाने पर भी यह प्‍यार दुनिया के सामने आ गया। खासकर फिल्‍म के क्रू मेंबर्स और खासकर मनीषा के पड़ोसियों ने चर्चाओं को हवा दे दी। बताया कि नाना पाटेकर अक्‍सर मनीषा कोइराला के घर आते हैं। दोनों घंटों साथ में वक्‍त बिताते हैं। कई बार आधी रात तो कभी तड़के सुबह नाना पाटेकर को मनीषा के घर से बाहर निकलते हुए स्‍पॉट किया गया।

नफरत है और है 'दूसरी औरत' का बदनुमा दाग
नफरत है और है ‘दूसरी औरत’ का बदनुमा दाग

‘अग्‍न‍ि साक्षी’ की शूटिंग के दौरान नाना पाटेकर और मनीषा कोइराला ने बहुत सारा वक्‍त साथ में बिताया। पहले एक-दूसरे का साथ चाहत थी, जो इसके ठीक बाद संजय लीला भंसाली की फिल्‍म ‘खामोशी’ के सेट पर आदत बन गई। इस फिल्‍म ने नाना पाटेकर ने मनीषा कोइराला के पिता का किरदार निभाया है। यह वह दौर था, जब हर फिल्‍म मैगजीन, अखबार के हर गॉसिप कॉलम में इस इश्‍क के चर्चे थे। ऐसे में प्‍यार से इनकार करना कहीं से भी समझदारी का सबब नहीं था। इसलिए दोनों ने इसे स्‍वीकार करना बेहतर समझा। लेकिन यहां दो बड़ी प्रॉब्‍लम थी।हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आप सबका धन्यवाद और इस प्रकार की ओर भी रोचक खबरे जानने के लिए हमारी वेबसाइड Samchar buddy.comजुड़े रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *