बरसो बरस बाद मिला संतान का सुख, 54 साल के बाद बन गए ये बूढ़े दम्पत्ति माता पिता, कमाल है ईश्वर का भी

54 साल के बाद मिला संतान का सुख

विवाह के बाद किसी भी युगल के लिए सबसे बड़ी खुशी और जो सबसे बड़ा सुख होता है ,वह होता है माता-पिता बनना। मां के लिए उसके मां बनने के सुख से बढ़कर इस दुनिया में कोई सुख नहीं होता है। माता-पिता के लिए मां-बाप का दर्जा जब उसकी संतान उसे देती है वह सबसे बड़ा सुख होता है ।मां बाप अपने बच्चों के लिए दिन रात एक करते हैं ,और उनकी खुशी के लिए कुछ भी करने को तैयार होते हैं। आज हम आपको ऐसी ही एक घटना के बारे में बताने जा रहे हैं ,जहां युगल ने माता-पिता बनने के लिए बच्चे की प्राप्ति के लिए एक मंदिर से दूसरे मंदिर तक जाते हैं। कई मन्नतें मांगते हैं ,ना जाने कहां कहां भटकते हैं। काफी डॉक्टर को भी दिखाते हैं, लेकिन फिर भी उन्हें संतान की प्राप्ति नहीं होती ।वह संतान के सुख से वंचित रहते हैं। यह दंपत्ति शादी को कई सालों तक बच्चा नहीं हुआ तो, उन्होंने उम्मीद छोड़ दी थी। लेकिन शादी के 54 साल के बाद अपने माता-पिता बनने का सुख प्राप्त हो गया।

 बच्चे के पिता गोपीचंद पूर्व सैनिक हैं। उनकी शादी 1968 में हुई थी।
बच्चे के पिता गोपीचंद पूर्व सैनिक हैं। उनकी शादी 1968 में हुई थी।

54 साल के बाद मिला संतान का सुख

आपको बता दें कि, बच्चे की मां की उम्र 70 साल है। और बच्चे के पिता की उम्र 75 साल है। बच्चे के पिता गोपीचंद पूर्व सैनिक हैं। उनकी शादी 1968 में हुई थी। लेकिन उन्हें तब से लेकर अब तक किसी भी प्रकार की संतान की प्राप्ति नहीं हुई थी। 1983 में गोपीचंद जब रिटायर होकर घर वापस आए तो, उन्होंने देश के हर डॉक्टर को अपनी पत्नी चंद्र वती, जो कि 70 साल की है, उनका चेकअप करवाया ,लेकिन नतीजा कुछ भी नहीं निकला, जिस कारण से वह काफी दुखी रहने लगे, लेकिन कहते हैं ना जहां होती है वहां राह होती है।

आई वी एफ तकनीक से बने माता पिता
आई वी एफ तकनीक से बने माता पिता

इसे भी अवश्य पढ़े:-समाज ने ठुकराया, लेकिन प्रेमी ने अपनाया, किन्नर से शादी करके दे रहा है मिसाल, इश्क़ को दे दिया नया अंजाम

आई वी एफ तकनीक से बने माता पितागोपीचंद के कुछ रिश्तेदार ने गोपीचंद को आईवीएफ के बारे में बताया, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, आवीएफ एक बहुत ही महंगी प्रक्रिया है, जिसमें पुरुष के शुक्राणु और महिला के अंडों को गर्भाशय में रखा जाता है। जिससे बच्चे का जन्म भी होता है। इस प्रक्रिया को तीन चरण में संपन्न किया जाता है ,लेकिन दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि, किस प्रक्रिया के कारण आज 54 साल के दंपत्ति के जीवन में खुशियां लौट आई हैं।आज वह बहुत खुश हैं ,और वह अपने जीवन में माता-पिता बन चुके है। उन्हें संतान के सुख की प्राप्ति हो गई।जब हमने डॉक्टर से इस बारे में जानकारी ली तो डॉक्टर ने बताया कि, यह पहला केस है जिसमें 70 साल की महिला गर्भवती होकर एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है ।डॉक्टर ने बताया कि बच्चे का वजन 3 किलो है, जो कि काफी अच्छी बात है। ऐसी तकनीक का लाने वाले उन डॉक्टर को सलाम है। क्योकि ऐसे नजाने कितनी ही लोगो को संतान का सुख इन तकनीकों के कारण मिलता है।

बच्चे की मां की उम्र 70 साल है। और बच्चे के पिता की उम्र 75 साल है।
बच्चे की मां की उम्र 70 साल है। और बच्चे के पिता की उम्र 75 साल है।

इसे भी अवश्य पढ़े:- पहली असफलता को माना जीवन की पहली कठिनाई, लेकिन नहीं मानी हार, और बन गए एसडीएम, दे रहे है मिसाल

इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए आपका आभार ,ऐसे ही दिलचस्प खबरों के लिए जुड़े रहिये समाचार बडी से, धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *