अनोखी हुई इस शिक्षक की विदाई, घोड़े पर बैठाकर, छात्रों ने छोड़ा घर तक, देखता रह गया पूरा गाँव 

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले की ये अनोखी घटना बतायी जा रही है।

शिक्षक हमारे जीवन का वो महत्त्पूर्ण हिस्सा होते है, जो ,हमारे जीवन निर्माण तय करते है। और एक बेहतर भविष्य का निर्माण भी करते है। और बहुत से शिक्षक तो तो ऐसी होते है, जो अपनी निष्ठा से अपने कार्य को करते है। और विद्यार्थियों के दिल में एक अनोखा स्थान बनाते है। और आज हम एक ऐसे एक ऐसे शिक्षक के बारे में बात करने जा रहे है। जिनके जाने पर न सिर्फ उनके विद्यार्थीयो को दुःख हुआ, बल्कि उन्होंने उनकी विदाई को एक जश्न के रूप में भी बनाया है। और बड़े ही अनोखे तरीके से अपने teacher को विदाई दी है। क्योकि इस शिक्षक के जाने पर उनके विदाई समारोह में बच्चो ने बड़े ही अनोखे तरीके से उन्हें पहले तो घोड़े पर एक दूल्हे के समान बिठाया था। और फिर उसके बाद उन्हें विदा किया। ये वाकई में ही देखने वाला नज़ारा था। क्योकि ये बहुत ही अनोखे तरिके से की गयी विदाई थी। इसे पहले किसी भी शिक्षक की इस तरह से विदाई नहीं की गयी है। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में एक ऐसे ही शिक्षक की विदाई का मामला सामने आया है। जिसमे एक शिक्षक के सेवा निवृत होने पर उन्हें अनोखे तरीके से विदा किया गया है।

मध्य प्रदेश की है ये घटना
मध्य प्रदेश की है ये घटना

इसे भी अवश्य पढ़े:-सालो से बंद पड़ी थी ये पेपर मिल, अब चल पड़ी है फिर से, हो गया है लोकार्पण, मिलेगी नयी नौकरियां

मध्य प्रदेश की है ये घटना

बता दे कि, मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले की ये अनोखी घटना बतायी जा रही है। जिसमे चंद्र प्रकाश त्रिपाठी जी  विदाई का समारोह चल रहा था। और वे अपने विद्यार्थियों के बहुत प्रिय बन चुके है। और उनके जाने पर बच्चो को बहुत दुःख हो रहा था। और फिर क्या था। बच्चो ने भी बड़े ही अनोखे अंदाज़ में उन्हें विदाई दी और उन्हें घोड़े पर बैठाकर उनकी विदाई पूरी करवाई। ये नज़ारा पूरा गांव देख रहा था।

चंद्र प्रकाश त्रिपाठी जी नाम के एक शिक्षक की विदाई का समारोह चल रहा था।
चंद्र प्रकाश त्रिपाठी जी नाम के एक शिक्षक की विदाई का समारोह चल रहा था।

 शिक्षक घोड़े पर बैठाकर घुमाया पूरा गाँव

इन छात्रों ने अपने इन शिक्षक को घोड़े पर बैठाकर पुरे गाँव में घुमाया था। एक शिक्षक वैसे कोई डिमांड नहीं करता है। लेकिन इस तरह के पल उन्हे एक अनोखी ख़ुशी देते है। और हर शिक्षक सम्मान के लायक ही होता है। और कुछ शिक्षक बच्चो के दिलो में कुछ ऐसे घर जाते है, कि वे अपनी अनोखी छाप ही छोड़ देते है।

घोड़े पर बैठाकर घुमाया पूरा गाँव
घोड़े पर बैठाकर घुमाया पूरा गाँव

इसे भी अवश्य पढ़े:-डिमांड में है ये अनोखा भैंसा, लग चुकी है 90 करोड़ की बोली भी, आखिर क्या है इसकी ये काया का राज़, और क्या है खास

ये लेख पढ़ने के लिए आपका आभार, ऐसे ही दिलचस्प खबरों के लिए जुड़े रहिये समाचार बडी से, धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *