ट्रैफिक जाम के बीच से एक हीरो की तरह इस डॉक्टर ने बचायी इस महिला की जान, जान की परवाह किये बिना लगातार दौड़ा 3 किलोमीटर की रफ़्तार से

मणिपुर अस्पताल में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी सर्जन है डॉक्टर

इस दुनिया में कुछ ऐसे लोग ऐसे भी होते है, जो बिना किसी स्वार्थ के कुछ ऐसे काम कर जाते है, जो एक मिसाल बन जाते है। और वाकई में एक प्रेरणा ही बन जाते है। और हमे अपने आसपास ही कुछ ऐसे उदाहरण देखने को मिल जाती है। और हम भी आपके लिए कुछ ऐसे ही लोगो की कहानियां लेकर आते रहते है, जिससे आप भी एक हैरत में पड़ जाते है। कि ऐसे कैसे संभव है ? लेकिन उनकी ही होंसले और सच्चाई से ये सब संभव भी हो जाता है। आज की कहानी है एक ऐसी ही शख्सियत की, जो कि पेशे से तो एक डॉक्टर है, लेकिन हाल ही में उन्होंने जो काम किया है, वो आपके लिए जानना बहुत हैरान कर देने वाला है। क्योकि उन्होंने अपने पेशे को एक सेवा और प्राथमिकता के संगम से जोड़ दिया है। इन डॉक्टर साहब (डॉ गोविन्द नंदकुमार) जी ने भरी भीड़ को पार करते हुए अपने मरीज की जान बचाने के लिए करीब 3 किलोमीटर का रास्ता रास्ता दौड़ते हुए तय किया है। और ये डॉक्टर साहब एक मिसाल बन गए है। जो कि वाकई में बहुत कमाल की बात है। और आज हम इसी के बारे में बात करने वाले है।आईये जानते है उनकी कहानी के बारे में।

 ये डॉक्टर जिनका नाम गोविन्द नंदकुमार है। वे मणिपुर अस्पताल में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी सर्जन है।
ये डॉक्टर जिनका नाम गोविन्द नंदकुमार है। वे मणिपुर अस्पताल में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी सर्जन है।

मणिपुर अस्पताल में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी सर्जन है डॉक्टर

बता दे कि, ये डॉक्टर जिनका नाम गोविन्द नंदकुमार है। वे मणिपुर अस्पताल में गैस्ट्रोएंटेरोलॉजी सर्जन है। और आज कल में ही उनकी ये मरीज के लिए भरी भीड़ के बीच से भागते हुए एक वीडियो वायरल हो रही है। और इस डॉक्टर को सभी लोग मसीहा बता रहे है। और बहुत तारीफ भी कर रहे है। डॉ गोविन्द 30 अगस्त की सुबह घर से अस्पताल के लिए निकले थे। उन्हें सुबह 10 बजे एक महिला की इमरजेंसी लेप्रोस्कोपिक गॉलब्लैडर सर्जरी करनी थी। लेकिन ट्रैफिक ज्यादा होने की वजह से उन्हें काफी देर इंतज़ार करना पड़ रहा था। लेकिन इस डॉक्टर ने अपने पेशे को एक सेवा स्वरुप मानते हुए निभाया।

3 किलोमीटर दौड़कर पहुंचे अस्पताल
3 किलोमीटर दौड़कर पहुंचे अस्पताल

इसे भी अवश्य पढ़े:-क्या अब सरकारी कर्मचारियों को नहीं मिलेगा महंगाई भत्ता? सरकार लेने वाली है ये निर्णय

डॉ गोविन्द नंदकुमार 3 किलोमीटर दौड़कर पहुंचे अस्पताल

डॉ गोविन्द नंदकुमार जी को अस्पताल जल्दी ही पहुंचना था, लेकिन वो रास्ते में सरजापुर-माराथली स्ट्रैच पर भयंकर जाम में फंस गए थे। जिसके बाद उन्होंने बिना कुछ सोचे समझे लगातार बिना रुके 3 किलोमीटर तक दौड़ना शुरू किया, और समय पर अस्पताल पहुंचकर उन्होंने सफल सर्जरी करके महिला की जान बचायी।

 डॉ गोविन्द 30 अगस्त की सुबह घर से अस्पताल के लिए निकले थे।
डॉ गोविन्द 30 अगस्त की सुबह घर से अस्पताल के लिए निकले थे।

इसे भी अवश्य पढ़े:-अनोखे ठाट है अम्बानी परिवार के भी, मुकेश अम्बानी ने अपने बेटे को तोहफे में देने के लिए खरीद डाला दुनिया का सबसे महं…

ऐसे ही दिलचस्प खबरों के लिए जुड़े रहिये समाचार बडी से, धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *